UIT करेगा गोबर से कमाई, बायोगैस बेचेगा: UDH मंत्री की मौजूदगी में गेल इंडिया से बायोगैस सीबीजी का एमओयू किया



कोटा35 मिनट पहले

UDH मंत्री शांति धारीवाल की मौजूदगी में आज UIT, गेल इंडिया, राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड के अधिकारियों में करार (MOU) हुआ।

नगर विकास न्यास (UIT) अब गोबर से भी कमाई करेगा। गोबर से बनने वाली बायोगैस को गेल इंडिया एवं राजस्थान स्टेट गेल लिमिडेट को बेचेगा। UDH मंत्री शांति धारीवाल की मौजूदगी में आज UIT, गेल इंडिया, राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड के अधिकारियों में करार (MOU) हुआ। इस मौके पर गेल इंडिया के जीएम रणदीप नैन, चीफ मैनेजर, आरएसजीएल के इंचार्ज एसडी ब्रह्म, डीजीएम मौजूद रहे। UDH मंत्री धारीवाल का दावा है कि ये भारत का पहला प्रोजेक्ट है। भारत में कहीं पर भी इस प्रकार का प्रोजेक्ट नहीं कि बायोगैस के लिए गेल इंडिया ने कोई एग्रीमेंट किया है।

गोबर के निस्तारण के लिए 30 करोड़ की लागत से 150 टन प्रतिदिन की क्षमता का गोबर गैस प्लांट लगाया गया।

दरअसल नगर विकास न्यास ने पशुपालकों के पुनर्वास के लिए धर्मपुरा, बंधा की 105.09 हेक्टेयर जमीन में 300 करोड़ की लागत से देवनारायण नगर एकीकृत आवास योजना विकसित की। इसमें 738 मकानों का निर्माण करवाया गया। साथ पशुओं से गोबर के निस्तारण के लिए 30 करोड़ की लागत से 150 टन प्रतिदिन की क्षमता का गोबर गैस प्लांट लगाया गया। बायोगैस संयंत्र से रोज 3 हजार किलों बायोगैस ,21 टन जैविक खाद, व 10 हजार लीटर तरल खाद का उत्पादन होगा। वर्तमान में यहां 200 किलों बायोगैस की खपत हो रही है। यहां रहने वाले पशुपालकों के चूल्हे बायोगैस से जल रहे है।सरप्लस बायोगैस को अब गेल इंडिया को बेचा जाएगा। UDH मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि अभी यहां 9 हजार पशु है। आने वाले समय में इनकी संख्या बढ़कर 15 हजार हो जाएगी। यहां पशुपालको से 1 रुपए किलो गोबर खरीदा जा रहा है। गोबर से बनने वाली बायोगैस का पशुपालक उपयोग कर रहे है। पशुपालकों को बिजली की जरूरत नहीं पड़ेगी, गैस से ही रोशनी चलेगी।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.