SHO को फोन कर बुजुर्ग ने पिया जहर: कहा- पुलिस भतीजी को नहीं ढूंढ़ रही, इसलिए मुझे मरना पड़ेगा



चूरू26 मिनट पहले

नाबालिग भतीजी के किडनैप के डेढ़ महीने बाद भी पुलिस के कोई कार्रवाई नहीं करने पर जहरीला पदार्थ पीने पर बुजुर्ग को गंभीर हालत में डीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

किडनैप की गई नाबालिग भतीजी को डेढ़ महीने बाद भी नहीं खोजने से नाराज एक बुजुर्ग ने एसएचओ को फोन किया और जहरीला पदार्थ पी लिया। तबीयत बिगड़ने पर शनिवार देर शाम परिजनों ने उसे गवर्नमेंट डीबी अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर बुजुर्ग का आईसीयू में इलाज चल रहा है। इससे पहले उसने बड़े भाई से कहा कि पुलिस भतीजी को खोजने की कोई कार्रवाई नहीं कर रही है, इसलिए मुझे मरना पड़ेगा। मामला चूरू जिले के रतननगर थाना इलाके के गांव हुणतपुरा का है।

बुजुर्ग के जहरीला पेय पीने की सूचना पर डीएसपी राजेन्द्र बुरड़क और रतननगर सीआई अस्पताल पहुंचे और परिजनों से मामले की जानकारी ली।

अस्पताल में पीड़ित के बड़े भाई नाथूराम ने बताया कि गांव हुणतपुरा से 29 अक्टूबर की रात को 12वीं क्लास की साढे़ 17 साल की नाबालिग छात्रा हो गई। नाबालिग का पिता भादरराम विदेश में काम करता है। इसलिए उसके ताऊ सूरजाराम (56) ने 30 अक्टूबर को रतननगर थाने में मामला दर्ज करवाया था कि उसकी नाबालिग भतीजी 29 अक्टूबर की रात में किसी समय घर से चली गई। रिपोर्ट में शक जाहिर किया गया था कि उसका रिश्तेदार नवीन निवासी जोधा का बास और नरेश निवासी दिनारपुरा ने उसकी भतीजी का किडनैप कर लिया। रतननगर पुलिस ने किडनैप की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। मगर अब तक ना तो नाबालिग का कोई सुराग लगा और ना ही किडनैप करने वाले युवकों का कोई सुराग लगा।

3 बार एसपी को ज्ञापन देने पर भी कार्रवाई नहीं
रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी पुलिस के कोई कार्रवाई नहीं करने पर सूरजाराम ने तीन बार एसपी को ज्ञापन भी दिया। मगर इसके बाद भी मामला दर्ज करवाने के करीब डेढ़ महीने बाद भी अभी तक उसकी भतीजी का कोई सुराग नहीं लगा। इससे उसकी आस टूट गई तो शनिवार शाम को उसने अपने खेत में जहरीला पदार्थ एल्ड्रिन पी लिया। सूरजाराम देर शाम को खेत में अचेत हालत में पड़ा मिला। नाबालिग के एक बड़ा भाई और एक बहन है।

डीएसपी और सीआई पहुंचे अस्पताल
बुजुर्ग के जहर पीने की घटना की सूचना के बाद डीएसपी राजेन्द्र बुरड़क, रतननगर सीआई और पुलिसकर्मी भी अस्पताल पहुंचे। सूरजाराम के बडे़ भाई नाथूराम ने बताया कि सूरजाराम ने एल्ड्रिन पीने से पहले रतननगर एसएचओ को भी कॉल किया था। उन्होंने बताया कि सुरजाराम सुबह खेत गया था। उसने बताया था कि भतीजी को खोजने के मामले में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। इसलिए अब उसे ही मरना पडे़गा। हालांकि रतननगर पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज होने के बाद 6 बार पुलिस ने बरामदगी के लिये दबिश भी दी। पुलिस टीमों द्वारा समय-समय पर कार्रवाई की जाती रही। पुलिस का कहना है कि इस मामले में भी छानबीन की जा रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.