750 ​​​​​​​कराेड़ से रेलवे स्टेशन की 3 मंजिला बिल्डिंग बनेगी: रेलवे जंक्शन बिल्डिंग में यात्रियों की एंट्री के लिए मेट्रो स्टेशन से स्काई वॉक-वे बनेगा



जयपुर14 मिनट पहलेलेखक: इमरान खान

  • कॉपी लिंक

मंगलमय यात्रा का री-डवलपमेंट प्लान।

मंगलमय यात्रा का री-डवलपमेंट प्लान , मेन गेट के अलावा जलभवन के पास से नया एंट्री पॉइंट, 3 रास्ते विकसित होंगे
अभी जयपुर जंक्शन पर उतरते ही देशी-विदेशी पर्यटकों को जाम-भीड़ और खटारा बसों वाला शहर दिखाई देता है। 42 महीने में गुलाबी शहर की इस तस्वीर को बदलने के लिए रेलवे, नगर निगम और जेडीए ने बड़ा प्लान तैयार किया है।
जंक्शन के बाहर जाम फ्री और री-डेवलपमेंट पर करीब 750 करोड़ रुपए खर्च होंगे। बिल्डिंग के मुख्य भवन में बदलाव के साथ-साथ जंक्शन में आने वाले यात्रियों के लिए 3 रास्ते बनाए जाएंगे। अभी जयपुर जंक्शन में यात्रियों की एंट्री परशुराम सर्किल से ही हाेती है।

री-डवलपमेंट में हसनपुरा स्थित जलभवन चाैराहे काे चाैड़ा किया जाएगा और राममंदिर से आने वालों को रेलवे काॅलाेनी के पास अंडरपास बना सीधे सेकंड एंट्री (हसनपुरा) पहुंचाया जाएगा। हालांकि रेलवे की यह प्लानिंग बिना जेडीए और नगर निगम के पूरी नहीं होगी। इसे लेकर भी रेलवे के एडिशनल जीएम गौतम अरोरा और डीआरएम नरेंद्र मुख्य सचिव के साथ बैठक करेंगे।

4 किमी घूमकर आने की बजाय 2.5 किमी में ही स्टेशन में एंट्री; 42 माह में नया आकार लेगा जयपुर जंक्शन
1.25 लाख यात्रियों का आवागमन है अभी जंक्शन पर राेजाना। इसमें 1 लाख यात्रियों की एंट्री परशुराम सर्किल के मेन गेट से हाेती है।
जाम; सर्किल और डीआरएम ऑफिस वाली मुख्य सड़क पर दिनभर जाम लगता है। इसे कम करने के लिए हसनपुरा चाैराहे से डीआरएम बंगले के सामने से गुजरने वाली सड़क 24 मीटर चाैड़ी होगी।
रास्ते से सोडाला, सिविल लाइंस, टाेंक राेड, सी-स्कीम, महेशनगर, मानसराेवर से आने वाले यात्रियों की हसनपुरा सेकंड एंट्री गेट से जंक्शन में एंट्री होगी। पुराने वाले जीएम ऑफिस, रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन ऑफिस सहित 10 दफ्तराें काे ताेड़कर एंट्री गेट बनेगा।

रेलवे परशुराम सर्किल पर यातायात दबाव कम करने के लिए तीसरा एंट्री पॉइंट हसनपुरा स्थित रेलवे क्रॉसिंग गेट (एलसी-225) से रेलवे कॉलोनी को जोड़ते हुए बनाएगा। इस सेकंड एंट्री पॉइंट से सीकर राेड, अंबाबाड़ी, वीकेआई, झाेटवाड़ा, मुरलीपुरा, विद्याधर नगर, सिरसी राेड, कालवाड़ से आने वाले यात्रियाें काे परशुराम सर्किल की बजाय नया रास्ता मिल सकेगा। इससे शहर के अलग-अलग इलाकाें से जंक्शन आने वाले यात्रियाें काे अलग-अलग एंट्री मिलेगी और 4 किमी के चक्कर के बजाय 2.5 किमी में ही स्टेशन पहुंचा जा सकेगा।

10 हजार वाहनों के लिए अंडरग्राउंड पार्किंग भी बनेगी
प्लेटफॉर्म नंबर 7/8 (सीकर एंड) के पास बना पार्सल ऑफिस, मजिस्ट्रेट कोर्ट सेकंड एंट्री यानी हसनपुरा की तरफ शिफ्ट होंगे। दोनों के शिफ्ट होने से डीआरएम ऑफिस के सामने जगह खाली हो जाएगी। प्लेटफॉर्म नं. 1 पर बना फूड प्लाजा और जन आहार भी शिफ्ट होगा। 3 मंजिला बिल्डिंग में दाेनाें टिकट विंडाे, फूड काेर्ट, वेटिंग रूम की सुविधा होगी। यहां 11 हजार स्क्वायर फीट में 10 हजार वाहनों के लिए अंडरग्राउंड पार्किंग भी बनेगी। हसनपुरा के सेकंड एंट्री गेट पर ढाई हजार वाहनों की पार्किंग भी बनेगी।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.