2 करोड़ से 30 बांधों की नहरों की होगी मरम्मत: आखिरी छोर तक पहुंचेगा पानी, किसानों को मिलेगा फायदा



टोंक13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जिले में जल संसाधन विभाग के अधीन 30 बांधों की करीब 550 किमी लंबी नहरों की मरम्मत 2 करोड़ रुपए से होगी।

जिले में जल संसाधन विभाग के अधीन 30 बांधों की करीब 550 किमी लंबी नहरों की मरम्मत होगी। इसके लिए 2 करोड़ रुपए मिले है। इनके टेंडर 20 अक्टूबर को खुलेंगे। इसके बाद नहरों का मरम्मत कार्य शुरू हो जाएगा। मरम्मत कार्य होने से आखिरी छोर तक के किसानों को इन नहरों के माध्यम से सिंचाई का पानी आसानी से मिल जाएगा। जल संसाधन विभाग ने इन नहरों की मरम्मत के लिए करीब 2 करोड़ 35 लाख रुपए मांगे थे। इसके बदले 2 करोड़ 6 लाख SDRF से मिल पाया है। अब जल्द ही नहरों की मरम्मत शुरू हो जाएगी।

गौरतलब है कि इस साल जिले में औसत बारिश से 687.10 एमएम से भी ज्यादा करीब 730 एमएम बारिश हुई है। इस अतिवृष्टि से किसानों की तिल, बाजरा, उड़द की करीब 50 फीसदी फसल खराब हो गई थी। इसे किसानों को काफी नुकसान हुआ। इसी के साथ इस अतिवृष्टि से फसलें ही नहीं, नहरी तंत्र कई जगह से डेमेज हो गया। गत दिनों जल संसाधन विभाग ने उसका जायजा लिया। इसमें अपने 30 बांधों और तालाबों की करीब 550 किमी नहरे कई जगह डेमेज मिली। इनकी मरम्मत के लिए दो करोड़ छह लाख रुपए मिले हैं। इसके टेंडर भी डाल दिए हैं, जो 20 अक्टूबर को खोले जाएंगे। उसके बाद संबंधित फर्म नहरों की मरम्मत शुरू कर देगी।

अधिकतम 60 हजार रुपए मिलते है प्रति किमी
जल संसाधन विभाग के XEN अशोक जैन ने बताया कि बारिश से डैमेज होने वाली नहरों की मरम्मत के लिए सरकार अधिकतम प्रति किमी पर 60 हजार रुपए देती है। उसी हिसाब से सरकार से बजट मांगा था। विभाग के अधीन 30 बांध हैं, जिनकी नहरों का जाल जिले में करीब 550 किलोमीटर है। इनकी मरम्मत के लिए सरकार से 2 करोड़ 35 लाख रुपए डिमांड की थी। उसके मुकाबले बजट में कटौती की गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.