स्कूल के संस्था प्रधान को दिया जाता है नोटिस: गुरुजी का रिपोर्ट कार्ड,10वीं में कम परिणाम देने पर 7 शिक्षकों को नोटिस



श्रीगंगानगर39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सरकारी स्कूलों में बोर्ड परीक्षा परिणाम निर्धारित मापदंड से कम रहने पर श्रीगंगानगर जिले में 7 स्कूलों के संस्था प्रधानों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। राज्यभर में 619 स्कूलों में परीक्षा परिणाम कम रहा है। इनमें 21 स्कूलों में 12वीं तथा 598 स्कूलों में दसवीं का परीक्षा परिणाम कम रहा है।

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने इन संस्था प्रधानों को पंद्रह दिन में वर्ष 2021-22 का परिणाम कम रहने का कारण बताते हुए अपना स्पष्टीकरण देने को कहा है। स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं रहने पर इनके खिलाफ 17 सीसीए में विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

दसवीं बोर्ड का परिणाम 50 फीसदी अथवा उससे कम रहने तथा 12वीं बोर्ड का 60 फीसदी अथवा कम रहने पर संबंधित स्कूल के संस्था प्रधान के खिलाफ 17 सीसीए में विभागीय कार्रवाई की जाती है।

कारण बताओ नोटिस में संस्था प्रधान की ओर से अपनी संस्था के गत तीन साल के परीक्षा परिणाम की सूचना भी जवाब के साथ पेश करनी होगी। माध्यमिक कार्यवाहक डीईओ गिरजेशकांत शर्मा ने बताया कि विभागीय प्रक्रिया के तहत नाेटिस जारी किए गए हैं। अब इन्हें डायरेक्टर काे जवाब देना है।

आप भी जानिए जिले के किस स्कूल के संस्था प्रधान काे कितने नंबर मिले

स्पष्टीकरण में यह बताना होगा:

संस्था प्रधानों को अपने स्पष्टीकरण में विद्यालय में कब से कब तक रहने, विषय अध्यापक का पद रिक्त रहने पर संस्था प्रधान के नाते किए गए प्रयास, शिक्षण व्यवस्थार्थ की गई अतिरिक्त कक्षाओं का विवरण तथा रिक्त पदों को भरने के लिए उनके द्वारा किए गए प्रयासों की जानकारी और संस्था प्रधान के नाते पिछले तीन साल का बोर्ड परीक्षा परिणाम का विवरण भी भेजने को कहा गया है। संस्था प्रधानों के स्पष्टीकरण के बाद ही ये तय किया जाएगा कि किन संस्था प्रधानों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाए।

ये है निर्धारित मापदंड:

जिस स्कूल का 10वीं बोर्ड का परीक्षा परिणाम 50 फीसदी अथवा इससे कम तथा 12वीं बोर्ड का 60 फीसदी अथवा इससे कम रहता है, उनके खिलाफ सीसीए 17 में अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाती है।

जिलेवार कहां कितने स्कूलाें काे नाेटिस मिला :

सेकंडरी के स्कूलाें में सबसे अधिक कक्षा दस का परिणाम कमजोर रहा। इसमें उदयपुर के 59 तथा सबसे कम झुंझुनूं का एक स्कूल शामिल है। अन्य स्कूलों में अजमेर 29, अलवर 21, बांसवाड़ा 11, बारा 42, बाड़मेर 18, भरतपुर 21, भीलवाड़ा 22, बीकानेर 16, बूंदी 27, चित्ताैड़गढ़ 40, चूरू 9, दौसा 2, धौलपुर 25, श्रीगंगानगर 7, हनुमानगढ़ 2, जयपुर 17, जैसलमेर 12, जालौर 7, झालावाड़ 17, झुंझुनूं 1, जोधपुर 9,करौली 13, कोटा 29,नागौर 13,पाली 36,प्रतापगढ़ 29, राजसमंद 17, सवाई माधोपुर 18, सीकर 4, सिरोही 4, टोंक के 10 स्कूलाें में परिणाम न्यून रहा है।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.