स्काउट गाइड जंबूरी के लिए बनाया गया स्मार्ट गांव: IAS अफसरों के लिए लग्जरी टेंट हाऊस, पहली बार होगी वॉटर एक्टिविटी



पाली6 घंटे पहले

पाली जिले के निम्बली ब्राह्मणन के निकट 18वीं राष्ट्रीय भारत स्काउट गाइड जंबूरी को लेकर तैयार किया गया गेट।

देश की अब तक की सबसे बड़ी 18वीं राष्ट्रीय भारत स्काउट गाइड जंबूरी का 4 से 10 जनवरी तक होगी। उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति भी शिरकत करेंगे। देश-विदेश से आने वाले 35 हजार स्काउट-गाइड इसमें हिस्सा लेंगे।

पाली जिला मुख्यालय से महज 30 KM दूर रोहट पंचायत समिति के गांव निम्बली ब्राह्मणन के पास रीको के 220 हैक्टेयर एरिया में अस्थाई स्मार्ट गांव बसाया जा रहा है। यहां एक बड़ा स्टेडियम बनकर तैयार हो चुका है। इसके साथ ही करतब दिखाने के लिए अलग से ग्राउंड बनाए जाएंगे। रहने के लिए अस्थाई टेंट की झोपड़ियों को बनाया गया है। पानी की पाइप लाइन बिछाने से लेकर हर जगह लाइट पहुंचाने का काम भी लगभग पूरा हो चुका है। खरीदारी के लिए यहां मार्केट तक बनाया जाएगा। इस पूरे आयोजन के लिए 25 करोड़ का बजट स्वीकृत किया गया है।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर बनाया गया स्टेडियम।

220 हेक्टेयर क्षेत्र में फैले जंबूरी स्थल का पूरा साइड प्लान तैयार किया गया है। इसे पाली के ही आर्किटेक्ट सुंदर राठौड़ ने डिजाइन किया है। इसमें विभिन्न गतिविधियों एवं सांस्कृतिक आयोजनों के लिए लकड़ियों से स्टेडियम तैयार किया गया है। जिसे फिनिसिंग टच दिया जा रहा है। यह स्टेडयिम 1400 गुना 1000 फीट का है। इसके साथ यहां हॉस्पिटल, कॉन्फ्रेंस हॉल, हेलीपेड, बिजली- पानी एवं सड़कों की व्यवस्था, एडवेंचर एक्टिविटी के लिए फील्ड आदि तैयार किए जा रहे हैं। जिनका का 95 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर स्काउट-गाइड के लिए बनाई गई टेंट की झोपड़िया।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर स्काउट-गाइड के लिए बनाई गई टेंट की झोपड़िया।

100-100 टेंट के कुल 35 ब्लॉक तैयार
सीओ स्काउट पाली गोविंद मीणा ने बताया कि जंबूरी स्थल पर 100-100 टेंट के कुल 35 ब्लॉक तैयार किए गए है। इसमें कुल 3500 टेंट होंगे। हर ब्लॉक के साथ एक किचन रहेगा, जहां शिविरार्थियों के लिए भोजन आदि की व्यवस्था रहेगी। प्रत्येक टेंट के लिए 30 गुणा 40 वर्ग मीटर का प्लाट आरक्षित किया गया है, इसमें 14 गुणा 14 का टेंट लगेगा। वही शेष स्थान पर शिविरार्थी शू स्टैंड, बर्तन धोने एवं रखने का स्टैंड, कपड़े रखने का स्थान, किचन आदि तैयार करेंगे। एक टेंट में 9 शिविरार्थी एवं एक प्रभारी के ठहरने का प्रावधान किया गया है। गाइड और स्काउट के लिए अलग-अलग टेंट बनाए गए है।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर बनाए गए लेटबॉथ।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर बनाए गए लेटबॉथ।

IAS अफसरों के लिए भी लग्जरी टेंट हाऊस
स्काउट-गाइड के बड़े अधिकारियों, IAS अफसरों के लिए भी लग्जरी टेंट हाऊस बनाए है। जहां बेड से लेकर लेट-बॉथ तक की व्यवस्था रहेगी। स्काउट-गाइड के लिए जो टेंट बनाए गए है उन्हें स्काउट की भाषा में छोलदारी कहते है। इसके साथ ही 40 सिसकोटेज टेंट बनाए गए है। जिनमें IAS और बड़े अधिकारी रूकेंगे। इनमें डबल बेड से लेकर लेट-बॉथ, वॉशरूम जैसी सारी सुविधाएं होगी। इसके साथ ही 275 EP टेंट बनाए गए है। जिनमें स्काउट-गाइड के राज्य और राष्ट्रीय स्तर के अधिकारी रूकेंगे। इनमें बेड लगा होगा। और स्काउट-गाइड के लिए 3150 छोलदारी टेंट बनाएं गए है। जिनमें सोने की सुविधा होगी। लेट-बॉथ और वॉशरूम के लिए अलग से जगह होगी।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर लाइट के लिए लगाया गया ट्रांसफॉर्मर।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर लाइट के लिए लगाया गया ट्रांसफॉर्मर।

होगी एडवेंचर एक्टिविटी
इस जम्बूरी में साहसिक गतिविधियां रोमांचित करेंगी। इसके लिए अलग से फील्ड तैयार किए गए है। जहां राफ्टिंग, स्काई साइकलिंग, पैरासेलिंग, पैराग्लाइडिंग जैसी एडवेंचर एक्टिविटी होगी। इसके साथ ही पहली बार जम्बूरी स्थल पर ही वॉटर एक्टिविटीज भी होंगी।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर काम करते हुए।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर काम करते हुए।

40-40 दुकानों के दो बजार और 7 रेस्टोरेंट भी बनाए
जम्बूरी स्थल पर दो बाजार भी तैयार किए जा रहे हैं, इनमें 40-40 दुकानें रहेंगी। इन दुकानों पर शिविरार्थियों के लिए सब्जियां, फल, प्रोविजनल सामग्री, हेयर सैलून, स्टेशनरी, मोबाइल, दूध, गर्म कपड़े, राजस्थानी ड्रेसेस, खादी, हैंडीक्राफ्ट, मिट्टी के बर्तन ,आर्टिफिशियल ज्वेलरी आदि सभी तरह की वस्तुएं बिक्री के लिए उपलब्ध रहेंगी। वही 7 रेस्टोरेंट्स भी बनाए गए है। जिनमें राजस्थान के चटपटे व्यंजनों का लुत्फ लिया जा सकेगा। आयोजन स्थल पर ही रेल सुविधा काउंटर, बैंक एटीएम आदि सेवाएं भी उपलब्ध रहेंगी।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल के निकट एडवेंचर एक्टिविटी के लिए तैयार किया गया ग्राउंड।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल के निकट एडवेंचर एक्टिविटी के लिए तैयार किया गया ग्राउंड।

सेना के जवान भी निभाएंगे भागीदारी
राष्ट्रीय जम्बूरी में पहला अवसर होगा जब उसमें सेना के जवानों की भी भागीदारी होगी। इसमें भारतीय वायुसेना के विमानों द्वारा राष्ट्रीय पर्वों पर किया जाने वाला सूर्यकिरण प्रदर्शन तथा BSF के जवानों द्वारा ऊंटों पर प्रदर्शन किया जाएगा। जम्बूरी आयोजन स्थल को कोइ भी देखने आ सकता है लेकिन इसके लिए उसे विजिटर्स पास बनवाना पड़ेगा। उसके बिना एंट्री नहीं दी जाएगी।

35 हजार बच्चे एक साथ गाएंगे जम्बूरी गीत, बनेगा वर्ल्ड रिकार्ड

18वीं राष्ट्रीय जम्बूरी को लेकर विषय गीत भी तैयार किया गया है। यह गीत पाली के ही अध्यापक दीपक जावा ने लिखा है। गीत में स्काउट गाइड कला के साथ-साथ भारत और राजस्थानी संस्कृति का समावेश किया गया है। जम्बूरी गीत में संगीत जय वैष्णव, गायन अशोक चौहान दिव्या चौहान, काजल कंवर, ललिता चौधरी ने किया गया है। इस गीत को पूरे देश मे प्रचारित किया जा रहा है। जम्बूरी स्थल पर 35 हजार स्काउट-गाइड एक साथ इस गीत का गायन कर वर्ल्ड रिकार्ड भी बनाएंगे।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर बनाया गया तालाब इस पर स्काई साइकलिंग होगी।

पाली जिले के रोहट क्षेत्र के निम्बली ब्राह्मणन के जंबूरी स्थल पर बनाया गया तालाब इस पर स्काई साइकलिंग होगी।

यह होंगी एक्टिविटी
जम्बूरी के दौरान 4 से 10 जनवरी तक प्रतिदिन विविध कार्यक्रम होंगे। इसमें शारीरिक एवं बौद्धिक प्रतियोगिताएं, एडवेंचरल एक्टिविटी, श्रमदान, शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि होंगे।

सफल आयोजन क लिए बनाई 35 कमेटियां
अमन श्रोत्रिय संयुक्त निदेकश राष्ट्रीय स्काउट-गाइड नई दिल्ली ने बताया कि जम्बूरी की व्यवस्थाओ को लेकर 35 वर्किंग कमेटियां बनाई गई हैं। इसमें 18 IAS अधिकारियों की भी सेवाएं ली जा रही हैं। वहीं सब कमेटियों का भी गठन किया जा रहा है।

जम्बूरी की खास बातें

  • 220 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला होगा जम्बूरी स्थल।
  • देश विदेश से आने वाले 35 हजार स्काउट-गाइड लेंगे भाग।
  • 1400 गुणा 1000 फीट का बनाया गया है स्टेडियम।
  • 50 बेड का हॉस्पिटल भी बनाया है यहां।
  • रहने के लिए बनाए 3500 टेंट।
  • 1700 शौचालय और 1200 स्नानागार बनाएं।
  • 02 हेलीपेड बनाए गए हैं आयोजन स्थल पर।
  • 27 KM लंबी ग्रेवल सड़कें बनी।
  • 580 मीटर लंबी डामर सड़क मय डिवाइडर तैयार कर रहा रीको।
  • 06 लाख लीटर क्षमता की पेयजल टंकी बनवाई।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.