वेटरनरी में एडमिशन अब NEET से: नए सेशन में RPVT नहीं होगी, अब NEET से ही मेडिकल के बाद वेटरनरी कॉलेज में सीट मिलेगी



बीकानेर27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राजस्थान के वेटरनरी कॉलेज में एडमिशन के लिए अब राजस्थान प्री वेटरनरी टेस्ट (RPVT) नहीं होगा, बल्कि नेशनल इलेजिबिलिटी एंटरेंस एग्जाम (NEET) का एग्जाम ही देना होगा। बीकानेर की वेटरनरी युनिवर्सिटी RPVT नहीं करवाने और NEET से ही एडमिशन करने का निर्णय बोम की मीटिंग में कर लिया है। ऐसे में अगले साल स्टूडेंट को नीट एग्जाम में मिले मार्क्स के आधार पर ही वेटरनरी कॉलेज में एडमिशन मिल जाएगा। अब तक दोनों एग्जाम देने पड़ते थे।

वेटरनरी विश्वविद्यालय की 28वीं प्रबंध मण्डल की बैठक में कुलपति प्रो. सतीश के गर्ग ने इस निर्णय पर अपनी मुहर लगा दी। बोम सदस्यों ने भी इस निर्णय को उचित बताया। इस निर्णय के साथ ही पी.जी. एवं पीएच.डी. पाठ्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के प्रवेश का रास्ता भी खुल गया है। इसके लिए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्, नई दिल्ली को प्रस्ताव दिया जा रहा है। अगले साल से बीकानेर सहित प्रदेश के अन्य वेटरनरी कॉलेज में पीजी करने के लिए देश से बाहर के स्टूडेंट्स भी आ सकते हैं। फिलहाल भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् के हरी झंडी का इंतजार है।

वेटरनरी में भी होम्योपैथिक

बैठक में वेटरनरी होम्योपैथिक मेडिसिन के क्षेत्र मे फील्ड पशु चिकित्सकों के लिए प्रशिक्षण एवं सर्टीफिकेट कोर्स प्रारम्भ करने की सहमति बनी है। पशु चिकित्सा के क्षेत्र में होम्योपैथिक मेडिसिन के लिए शोध करने के लिए सुझाव दिया गया। आने वाले सालों में ये कोर्स भी स्टूडेंट्स कर सकेंगे।

प्रबन्ध मण्डल ने विश्वविद्यालय में कैरियर एडवांसमेंट के अन्तर्गत विश्वविद्यालय के चार शिक्षकों की सहायक आचार्य से सह-आचार्य एवं एक को उपपुस्तकालय अध्यक्ष से पुस्तकालय अध्यक्ष के पद पर पदोन्नत करने का अनुमोदन किया गया।

ये महत्वपूर्ण निर्णय भी हुए

प्रबन्ध मण्डल ने सत्र 2022-23 की आर.पी.वी.टी के तहत बी.वी.एस.सी. एण्ड ए.एच. पाठ्यक्रम में भर्ती हेतु पूर्ण प्रक्रिया एवं डेयरी एवं खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय में सत्र 2022-23 प्रथम वर्ष बी.टेक. (डेयरी टेक्नोलॉजी) प्रवेश परीक्षा ‘जेट-2022‘ की पूर्ण प्रक्रिया का अनुमोदन किया। इसके अलावा बैठक में गत अकादमिक परिषद, ऑफिसर काउंसिल एवं वित्तीय समिति एवं प्रबन्ध मण्डल के बैठक के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा एवं अनुमोदन किया गया। बैठक में विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त व पेन्शनर शिक्षकों एवं कर्मचारियों के लिए राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजना (आर.जी.एच.एस.) की औपचारिकता को पूर्ण कर उसे शीघ्र लागू करने के निर्णय का अनुमोदन भी किया गया। बैठक में कुलसचिव अरूण प्रकाश शर्मा द्वारा बैठक में एजेन्डे प्रस्तुत किए गए तथा प्रबन्ध मंडल के सदस्यों द्वारा विभिन्न एजेन्डों का अनुमोदन किया गया। बैठक में प्रबंध मण्डल के सदस्य प्रो. ए.के. गहलोत (संस्थापक एवं पूर्व कुलपति), प्रो. पी.के. शुक्ला (मथुरा), श्रीमती कृष्णा सोलंकी (जयपुर), श्री पुरखाराम (प्रगतिशील पशुपालक), डॉ. ओम प्रकाश (आर.सी.डी.एफ. प्रतिनिधि), डॉ. विरेन्द्र नेत्रा (संयुक्त निदेशक, पशुपालन विभाग, बीकानेर), डॉ. गीता बेनिवाल (उपनिदेशक पशुपालन), प्रो. ए.पी. सिंह, डॉ. हेमन्त दाधीच एवं वित्त नियन्त्रक बनवारी लाल सर्वा उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.