मंत्री बोले- बच्चे भी पूछ रहे पायलट CM कब बनेंगे: गुढ़ा ने कहा- 21 सीट को 100 में बदलने वाला निकम्मा कैसे?



जयपुर/झुंझुनूं34 मिनट पहले

झुंझुनूं जिले के गुढ़ा में हुए किसान सम्मेलन में बुधवार को सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने का मुद्दा छाया रहा। सचिन पायलट समर्थक नेताओं ने CM अशोक गहलोत को निशाने पर लेने के साथ पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की खुलकर मांग उठाई। पायलट समर्थक मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने गहलोत पर हमला बोलते हुए कहा- 100 में से 21 नंबर लाए वह फेल हो जाता है, जो 200 में से 21 लाए फिर भी वह पास। जो 21 सीट को 100 में बदल दे, वह निकम्मा कैसे हो गया? हम यह कैसे भूलें?

गुढ़ा ने कहा- नौजवान हाईकमान के फैसले का इंतजार कर रहा है। जो बच्चा पहली बार वोटिंग करेगा, वह भी और जिसका वोटर लिस्ट में नाम तक नहीं है वह भी पूछ रहा है कि पायलट साहब सीएम कब बन रहे हैं? जब जब सत्ता के गलियारों में अन्याय होता है। जनता के बीच उस व्यक्ति के प्रति साख-इज्जत बढ़ती है। राजस्थान का नौजवान चाहता है कि राजस्थान की तकदीर का फैसला पायलट करें। गुढ़ा ने कहा- राजा राम का राजतिलक होने के बाद उन्हें 14 साल का वनवास दिया गया तो जनता के मन में यह बैठ गया कि राम के साथ अन्याय हुआ। हस्तिनापुर में द्रौपदी का चीरहरण हुआ तो जनता के मन हुआ कि द्रौपदी और पांडवों के साथ अन्याय हुआ। जिस जिसके साथ सत्ता ने अत्याचार किए हैं, वह जनता की सहानुभूति का पात्र बना है।

झुंझुनूं जिले के गुढ़ा में हुए किसान सम्मेलन में बुधवार को किसान सम्मेलन को संबोधित करते पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट।

खिलाड़ी बैरवा बोले- पायलट के सीएम बने बिना कांग्रेस सरकार नहीं आएगी

एससी आयोग के अध्यक्ष और बसेड़ी विधायक खिलाड़ीलाल बैरवा ने खुलकर सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग उठाई। बैरवा ने कहा- सचिन पायलट को कमान मिल गई तो 40 सीटें तो मध्य प्रदेश में बढ़ जाएंगी। जहां भी जाते हैं लोग पूछते हैं। पायलट की ताजपोशी कब होगी? हम जनता को जवाब देते हैं कि आप चिंता मत कीजिए। हाईकमान जल्द फैसला करेगा। हाईकमान सब देख रहा है। भारत जोड़ो यात्रा भी हो गई। चुनाव में अब 10 महीने रह गए हैं। चूक गए तो राजस्थान माफ नहीं करेगा। सचिन पायलट के सीएम बनने से ही राजस्थान में सरकार बनने वाली है, नहीं तो कांग्रेस की सरकार नहीं आएगी। पायलट की ताजपोशी तो जनता करेगी।

मंत्री बृजेंद्र ओला बोले- पायलट के संघर्ष से ही सरकार बनी

परिवहन मंत्री बृजेंद्र सिंह ओला ने कहा- जब 2013 में कांग्रेस की हार हुई तो कहा जाने लगा था कि अब 25 साल तक भूल जाओ। कांग्रेस की सरकार नहीं आने वाली है। सचिन पायलट ने प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद हर जिले में ग्राउंड तक जाकर लोगों को जोड़ा। सारे राजस्थान में कोई क्षेत्र ऐसा नहीं था, जिसमें पायलट नहीं गए हों। हम सबने उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम किया। पायलट साहब ने संघर्ष किया। उसी का फल भोग रहे हैं। पायलट के संघर्ष से ही राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनी। पायलट के हाथ मजबूत करने जरूरी हैं। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार फिर से बनाने के लिए पायलट जुटे हैं। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार नहीं बनी तो देश में पार्टी की हालत बहुत दयनीय हो जाएगी।

बड़ी संख्या में लोग किसान सम्मेलन में शामिल पहुंचे। यहां हुई सभा में वन मंत्री हेमाराम चौधरी, एससी आयोग के अध्यक्ष और बसेड़ी विधायक खिलाड़ीलाल बैरवा, परिवहन मंत्री बृजेंद्र सिंह ओला, मंत्री राजेंद्र गुढ़ा सहित तमाम नेताओं ने सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग उठाई।

बड़ी संख्या में लोग किसान सम्मेलन में शामिल पहुंचे। यहां हुई सभा में वन मंत्री हेमाराम चौधरी, एससी आयोग के अध्यक्ष और बसेड़ी विधायक खिलाड़ीलाल बैरवा, परिवहन मंत्री बृजेंद्र सिंह ओला, मंत्री राजेंद्र गुढ़ा सहित तमाम नेताओं ने सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग उठाई।

मंत्री हेमाराम बोले- बिजली के हालात खराब

वन मंत्री हेमाराम चौधरी ने कहा- जनता ने तय कर लिया है कि पायलट का साथ देना है। जनता तय कर लेती है, उसे कोई रोक नहीं सकता। मैं कोई नया आदमी नहीं हूं। लोगों के चेहरे देखकर पता लग जाता है कि वे चाहते क्या हैं? किसान सम्मेलन में 36 कौम के लोग हैं। किसानों को जाति के नाम पर बांध दिया जाता है। खेत में काम करने वाले की एक ही जाति होती है। आज बिजली के क्या हालत हैं? हमारे पास किसानों के फोन आते हैं। हमारे पास जवाब नहीं होता। इस मुद्दे को सरकार के चिंतन शिविर में मैंने प्रमुखता से उठाया है। हम और पायलट साहब किसानों की कोई बात हो उसे प्रमुखता से उठाएंगे। चाहे उसकी कोई कीमत चुकानी पड़े।

हेमाराम ने कहा- जनता तय कर लेती है तो वह किसी की नहीं सुनती। लोकसभा चुनाव का किस्सा है। किसान बोर्डिंग में प्रोग्राम था। उस समय बीजेपी से कर्नल सोनाराम चुनाव लड़ रहे थे। कांग्रेस से हरीश चौधरी। कर्नल जब प्रोग्राम में आए तो लोगों ने उन्हें कंधों पर उठा लिया। जब हरीश चौधरी आए तो लोगों ने उनकी तरफ देखा तक नहीं। हम कांग्रेस के थे तो हरीश चौधरी के साथ थे, लेकिन आप जनता का कुछ नहीं कर सकते।

ये भी पढ़ें

‘अफसर जिम्मेदार नहीं तो तिजोरी से पेपर बाहर कैसे आया?’:पायलट का गहलोत पर हमला, बोले- यह तो जादूगरी हो गई, ऐसा संभव नहीं

पेपर लीक मामले में सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच वार-पलटवार तीसरे दिन भी जारी है। बुधवार को पायलट ने बड़े अफसरों को रिटायरमेंट के बाद राजनीतिक नियुक्तियां देने पर भी गहलोत का नाम लिए बिना तीखा हमला बोला है। (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.