बूंदी में यूरिया के लिए लगी किसानों की लाइन: पुलिस के पहरे में बंटा खाद, कई किसान लौटे निराश



बूंदी43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बूंदी के नैनवां में यूरिया खाद के लिए सुबह से ही किसान लाइन में लग गए। काफी मशक्कत के बाद कई किसानों को खाली हाथ लौटना पड़ा।

बूंदी जिले में यूरिया खाद की मारामारी लगातार बनी हुई है। नैनवां में शनिवार सुबह से किसान यूरिया के लिए लाइन में लग गए। कई जगह लाइन आधा किलोमीटर तक पहुंच गई। प्रशासन ने पुलिस की निगरानी में खाद का वितरण कराया। इसके बावजूद कई किसानों को निराश लौटना पड़ा। कलेक्टर अरविंद गोस्वामी ने नैनवां क्षेत्र में काशपुरिया सिसोला खाद वितरण की व्यवस्थाएं देखी। वहीं, खेल एवं जनसम्पर्क राज्य मंत्री अशोक चांदना ने यूरिया की कमी के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताया है।

बूंदी के नैनवां में यूरिया खाद के लिए महिलाएं घर का काम छोड़कर लाइनों में लग गई।

बूंदी के नैनवां में यूरिया खाद के लिए महिलाएं घर का काम छोड़कर लाइनों में लग गई।

नैनवां में पुष्पा खाद भंडार पर सवेरे से ही किसानों की लाइन लग गई। यहां एडीएम मुकेश चौधरी और एसडीएम शत्रुघ्न गुर्जर ने मोर्चा संभाला। इस दौरान पुलिस जाब्ता भी तैनात रहा। दोनों अधिकारियों के निर्देशन में खाद का वितरण किया गया। यहां आए 756 कट्टों का वितरण किया गया। एक किसान को 2 कट्‌टे दिए गए। खाद खत्म होने से कई किसानों को निराश होकर लौटना पड़ा। वहीं, मित्तल खाद भंडार पर 1566 कट्टे आए, जिनका वितरण कृषि पर्यवेक्षक दिनेश शर्मा और पुलिस जाब्ते की मौजूदगी में किया गया। 1 बजे तक लगभग 770 कट्टे बांटे जा चुके थे, लेकिन फिर भी किसानों की आधा किलोमीटर लंबी लाइन लगी हुई थी।

एक किसान ने हाथ जोड़ते हुए खाद के लिए कलेक्टर अरविंद गोस्वामी से गुहार लगाई तो उन्होंने उसे गले लगाते हुए शीघ्र यूरिया उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

एक किसान ने हाथ जोड़ते हुए खाद के लिए कलेक्टर अरविंद गोस्वामी से गुहार लगाई तो उन्होंने उसे गले लगाते हुए शीघ्र यूरिया उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

कलेक्टर ने किसान को लगाया गले
इस दौरान बूंदी कलेक्टर अरविंद गोस्वामी ने खाद वितरण की व्यवस्था देखी। खाद लेने आए एक किसान ने कलेक्टर के सामने हाथ जोड़ते हुए कहा कि आप हमारे भगवान हो, हमारे लिए खाद की व्यवस्था करवा दो। इस पर कलेक्टर ने उस किसान को गले लगाते हुए कहा कि मैं पूरी कोशिश कर रहा हूं, जल्द ही खाद की व्यवस्था करवाई जाएगी।

सहायक कृषि अधिकारी निलंबित
कृषि विभाग के आयुक्त कानाराम ने खाद वितरण में लापरवाही बरतने पर देई के सहायक कृषि अधिकारी पप्पूलाल मीणा को निलंबित कर दिया। हालांकि निलंबन के कारण प्रशासनिक बताए हैं। आयुक्त ने आदेश में लिखा कि देई के सहायक कृषि अधिकारी पप्पूलाल मीणा को प्रशासनिक कारणों से तुरंत प्रभाव निलंबित किया जाता है। इसके साथ ही कृषि विभाग के उपनिदेशक ने शुक्रवार को नैनवां क्रय-विक्रय सहकारी समिति का खाद विक्रय का लाइसेंस एक दिसम्बर तक के लिए निलंबित कर दिया।

केंद्र सरकार ने तय कोटा नहीं दिया : चांदना
खेल एवं जनसम्पर्क राज्य मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि केन्द्र सरकार ने अक्टूबर और नवम्बर महीने में खाद का तय कोटा उपलब्ध नहीं करवाया गया। इसके चलते खाद की किल्लत बनी हुई है, जिससे किसानों को लाइन में लगना पड़ रहा है। केंद्र सरकार केवल चुनाव वाले राज्यों पर ध्यान दे रही है। वहीं, खाद उपलब्ध कराया जा रहा है।

बूंदी के कृषि उपनिदेशक भी निलंबित
कलेक्टर अरविंद गोस्वामी ने बताया कि संयुक्त शासन सचिव मूल चन्द ने एक आदेश जारी कर बूंदी कृषि उप निदेशक रमेश चन्द्र जैन को यूरिया खाद के वितरण में अनियमितता बरतने पर निलम्बित कर दिया। निलम्बन काल के दौरान मुख्यालय कृषि आयुक्तालय जयपुर रहेगा।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.