जानलेवा हमला: फाइनेंस ऑफिस में उत्पात मचाने वालों में दो रानी के



पाली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रानी के प्रताप बाजार-मरूधरा ग्राम बैंक के समीप स्थित फाइनेंस ऑफिस में साेमवार देर रात घुसकर धारदार हथियाराें व लाठियाें से जानलेवा हमला करने वाले आराेपियाें की शिनाख्त हाे गई है। दो बदमाश रानी के हैं और दो पड़ोस के गांव के। लेन-देन काे लेकर विवाद हाेने पर आराेपियाें ने मुंह पर कपड़ा बांधकर धावा बाेला था। एक युवक बिल्डिंग से नीचे गिरकर गंभीर रूप से घायल हाे गया था।

जोधपुर में भर्ती युवक की हालत अब भी चिंताजनक बनी हुई है। मंगलवार काे बाली से डीएसपी अचलसिंह देवड़ा ने घटनास्थल का माैका मुआयना किया। आराेपियाें काे पकड़ने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार बमणिया निवासी प्रदीपसिंह राजपूत ने रानी में फाइनेंस करने के लिए दफ्तर खाेल रखा है। यहां पर मकानाें के पट्टे समेत अन्य संपति गिरवी रखकर ब्याज पर रुपए फाइनेंस किए जाते हैं। साेमवार रात काे अचानक इस बाॅफिस में 8 से 10 लाेग अपने मुंह पर कपड़ा बांधकर हाथाें में लाेहे के सरिए, पाइप, स्टिक तथा हाॅकी व लाठियाें के साथ घुसे और अंदर आते ही ऑफिस में ताेड़फाेड़ शुरू कर दी।

आराेपियाें ने आधे घंटे तक उत्पात मचाया था। इस दाैरान ऑफिस में रात में साेने के लिए बुलाए गए पड़ाेसी रमेश मीणा बिल्डिंग से नीचे गिरकर गंभीर रूप से घायल हाे गया था। देर रात में सबसे व्यस्ततम बाजार में हुई इस घटना से पूरे कस्बे में दहशत का माहाैल बन गया था।

पड़ाेस गांवाें के रहने वाले आराेपी, डीएसपी ने माैका देखा
बताया जाता है कि फाइनेंस ऑफिस में हमला कर ऑफिस मालिक काे दहशतजदा करने की साजिश थी। पुलिस में दी गई रिपाेर्ट में बताया गया कि धणी निवासी भवानीसिंह राजपूत, बांकली निवासी केसरसिंह राजपूत तथा रानी के ही रहने वाले राहुल वाल्मीकि तथा सुमीत वाल्मीकि समेत अन्य लाेगाें ने यहां पर हमला किया था। रानी थाने के एएसइाई मेघाराम का कहना है कि भरत भाट की तरफ से रानी थाने में आराेपियाें के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.