एक व्यक्ति और उसके दो बच्चे किडनैप: छोड़ने के लिए बदमाशों ने मांगे 5 लाख, पैसे नहीं देने पर जान से मारने की धमकी




भरतपुर30 मिनट पहले

पति और दोनों बच्चों की किडनैपिंग की शिकायत लेकर कामां थाने पहुंची महिला।

भरतपुर के कामां थाने में एक महिला ने अपने पति और दो बच्चों के किडनैपिंग की शिकायत दी है। जिसमें महिला ने बताया है कि किडनैपर्स 5 लाख रुपये की डिमांड कर रहे हैं। पैसे न देने पर तीनों को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। घटना कल शाम की है। व्यक्ति अपने दो बच्चों के साथ कार को ठीक करवाने के लिए उस समय कुछ लोगों ने तीनों का अपहरण कर लिया।

पालड़ी गांव की रहने वाली सहरुना ने बताया कि कल शाम करीब 5 बजकर 30 मिनट पर उसका पति मुनफेद अपने बच्चे 2 साल के गुफरान और लतीफ 8 साल को लेकर कामां कस्बे गया था। मुनफेद को अपनी कार धुलवानी थी, लेकिन वह देर शाम तक घर नहीं आया। कुछ देर बाद मुनफेद ने अपने मोबाइल से अपने भाई रुकसार के नंबर पर फोन किया।

तब मुनफेद ने सहरुना से बात करने को कहा, मुनफेद ने बताया कि, नंदेरा की पुलिया से करीब 7 लोगों ने उसका और दो0नों बच्चों का अपहरण कर लिया है। बदमाशों के लिए 5 लाख रुपए की व्यवस्था करो और उनकी बताई जगह पर आ जाओ। इतना कहकर मुनफेद ने फोन काट दिया।

उसके बाद 8 बजकर 26 मिनट पर एक दूसरे नंबर से फोन आया। फोन करने वाले व्यक्ति ने सहरुना से कहा – मेरी बात ध्यान से सुनो, मेरा नाम वारिस है, में लहचौड़ा गांव थाना गोवर्धन का रहने वाला हूं। अगर तू अपने पति को जिंदा देखना चाहती है तो 5 लाख रुपए लेकर लहचौड़ा के जंगलों में आ जा, तेरे पति का मैंने और मेरी गैंग ने अपहरण कर लिया है। अगर तू पैसे लेकर नहीं आई तो तेरे पति और दोनों बच्चों को जान से खत्म कर दूंगा, और अगर कोई चालाकी की तो उसका अंजाम बहुत बुरा होगा।

महिला के शिकायत देने के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए, तुरंत एक टीम का गठन कर दिया है, मुनफेद और उसके दोनों बच्चों की तलाश की जा रही है, आरोपियों के नंबर भी ट्रेस पर डाल दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.