उदयपुर में नगर निगम की बोर्ड बैठक: भगतानी को कांग्रेसी पार्षदों ने गद्दार बताया, मनोहर चौधरी और छोगालाल ने अपने बोर्ड से पूछे सवाल



उदयपुर35 मिनट पहले

कई पार्षदों ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट पर नाराजगी जताते हुए इस पर ठोस कदम उठाने की मांग की। पार्षद अजय पोरवाल ने 272 भूखंड प्रकरण में जांच और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी। वहीं कई पार्षदों ने गैराज शाखा में चल रहे घोटाले पर भी सवाल पूछे और ठेकेदार को हटाने की मांग की।

उदयपुर में मंगलवार को नगर निगम की बोर्ड बैठक सफाई और स्मार्ट सिटी के कामकाज के साथ ही एक पार्षद के पार्टी छोड़ने का मुद्दा जमकर गर्माया। पार्षद संजय भगतानी के कांग्रेस छोड़ने पर कांग्रेसी पार्षदों ने उन्हें गद्दार तक कह दिया। इस पर करीब 15 मिनट तक बीजेपी-कांग्रेस पार्षद आमने-सामने जमकर बहस करते रहे। इस पर भगतानी के समर्थन में कई बीजेपी पार्षद उनके साथ खड़े दिखे।

भगतानी को गद्दार कहने पर बीजेपी के पार्षद उनके समर्थन में खड़े हो गए।

वही उपमहापौर पारस सिंघवी और पार्षद मनोहर चौधरी-छोगालाल भोई की तल्खियां भी कई बार देखने को मिली। करीब 2 घंटे तक पार्षदों ने कई मुद्दों पर जमकर बहस की। कांग्रेस के ज्यादात्तर पार्षद निगम महापौर जीएस टांक और आयुक्त हिम्मत सिंह बारहट के मौन रहने पर सवाल पूछते रहे।

बैठक में सफाई व्यवस्था पर पार्षदों में अपने अपने सुझाव दिए। आवारा पशुओं द्वारा शहर में गंदगी फैलाने पर ठोस कदम उठाने पर जोर दिया। वही नगरीय क्षेत्र में होटल्स से वसूले जाने टैक्स पर भी लंबा मंथन हुआ। बीजेपी की ज्यादात्तर पार्षद उप महापौर द्वारा बोले जा रहे हर सुझाव और जवाब पर समर्थन देते रहे। नगर निगम की इस बैठक में नए अग्निशमन यंत्र खरीदने के साथ ही ट्रेड लाइसेंस की दरों में अपडेट और राज्य सरकार द्वारा 2017 में जारी किए गए आदेशों के निर्णय पर अनुमोदन किया गया।

बैठक में ताराचंद जैन ने कांग्रेसी पार्षदों द्वारा निगम से पूछे गए जवाब दिए।

बैठक में ताराचंद जैन ने कांग्रेसी पार्षदों द्वारा निगम से पूछे गए जवाब दिए।

निगम महापौर जीएस टांक ने कहा कि सफाई निर्माण और सौंदर्यीकरण पर नगर निगम का पूरा फोकस है व्यवस्थाओं में लगातार सुधार किया जा रहा है। नए प्रस्तावों पर ध्यान दे रहे है। उपमहापौर पारस सिंघवी ने कहा कि तथ्यात्मक ग्रुप से हर सुझाव पर स्टडी की जाएगी। सभी पार्षदों को जवाब के जरिए संतुष्ट करने की हमारी पूरी कोशिश रही है।

वह इस बैठक के दौरान कांग्रेसी पार्षदों ने शहर के अलग-अलग भागों में सड़क रिपेयरिंग के लिए ए प्लस ठेकेदार को कार्य सौंपने के बाद भी गुणवत्ता को लेकर आई शिकायतों पर सवाल पूछे।

कई पार्षदों ने सिटी रेलवे स्टेशन के सामने बनी कच्ची बस्ती समेत अन्य जगहों से राजस्व प्राप्ति और अतिक्रमण को लेकर भी सवाल पूछे। कई पार्षदों ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट पर नाराजगी जताते हुए इस पर ठोस कदम उठाने की मांग की। पार्षद अजय पोरवाल ने 272 भूखंड प्रकरण में जांच और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी। वहीं कई पार्षदों ने गैराज शाखा में चल रहे घोटाले पर भी सवाल पूछे और ठेकेदार को हटाने की मांग की।

खबरें और भी हैं…



Source link


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
khabarplus

0 Comments

Your email address will not be published.